HomeBIOGRAPHYUsain Bolt Biography in Hindi - उसैन बोल्ट

Usain Bolt Biography in Hindi – उसैन बोल्ट

दोस्तों आज मैं बात करने जा रहा हूं एक ऐसे शख्स की जो रेसिंग ट्रैक पर चीते की रफ्तार से दौड़ता है और जिसकी रफ्तार का अंदाजा सिर्फ हाई डेफिनेशन कैमरे पर ही लगाई जा सकती है जी हां दोस्तों मैं बात कर रहा हूं दुनिया की सबसे तेज इंसान उसैन बोल्ट की जिन्होंने सिर्फ तीन ओलंपिक में आठ गोल्ड मेडल अपने नाम किया है और इतना ही नहीं 2008 से लेकर अभी तक सभी ओलंपिक की 100 मीटर और 200 मीटर देश में जीतकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुके हैं| Usain Bolt Biography in Hindi.

Usain-Bolt-Biography-In-Hindi
Usain-Bolt-Biography-In-Hindi

लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि आज के समय में दुनिया के सबसे तेज इंसान का जन्म बेहद गरीब परिवार में हुआ उनके गांव में ना तो बिजली थी और ना ही घर-घर पीने के लिए पानी लेकिन इन सभी परेशानियों का बखूबी से सामना करते हुए बोल्ट ने दिखा दिया कि अगर इंसान के अंदर दिल से कुछ कर जाने की इच्छा हो तो दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है तो चलिए दोस्तों बिना आपका समय खराब किए हम बोल्ट के इस प्रेरणादायक जीवन को शुरू से जानते हैं|

बोल्ट का जीवन परिचय

Contents hide

Usain Bolt Biography in Hindi

Usain St Leo Bolt का जन्म 21 अगस्त 1986 को जमैका के एक छोटे से गांव शेरपुर कंटेंट में हुआ था दोस्तों बता दो जमैका वेस्टइंडीज का एक बहुत ही प्रसिद्ध द्वीप है और मौजूदा समय के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल का जन्म हुआ था |

Usain-Bolt-Biography-In-Hindi
Usain-Bolt-Biography-In-Hindi

गांव

जमैका की राजधानी किंग्सटन से बोल्ट के गांव शेरवुड कंटेंट की दूरी तय करने में करीब 3:30 घंटे का वक्त लगता है और उनके इस गांव में ना तो सड़कों पर लाइट्स है और ना ही हर घर में पानी की सुविधा लेकिन उनके परिवार वालों का मानना है कि उन्हें इस तरह की जिंदगी से कोई शिकवा नहीं है|

बोल्ट का जीवन परिचय

बोल्ट के पिता का नाम वेलेजली और मां का नाम जेनिफर है जो साथ मिलकर गांव में ही एक किराने की दुकान चला कर अपना और अपने बच्चों के आर्थिक जरूरतों को पूरा करते थे बोल्ट ने अपना बचपन का समय अपने भाई के साथ गली में क्रिकेट और फुटबॉल खेल कर बिताया | उन्होंने अभी हाल ही में एक इंटरव्यू में बताया कि जब मैं छोटा था तो वास्तव में मैं खेल के अलावा किसी चीज के बारे में नहीं सोचता था और इसीलिए बोल्ट ने शुरू से ही अपने दिमाग में खेल में ही कैरियर बनाने का सोच लिया था|

बोल्ट ने रेस कंपटीशन में पार्टिसिपेट किया

अपनी छोटी उम्र में बोल्ट ने गांव के ही एक सरकारी स्कूल में पढ़ाई की और यहीं पर पहली बार उन्होंने रेस कंपटीशन में पार्टिसिपेट किया और सबसे तेज रन बने लेकिन 12 साल की उम्र तक बोल्ट नहीं यह तो सोच लिया था कि उन्हें खेल में अपना कैरियर बनाना है लेकिन किस खेल में यह डिसाइड नहीं कर पा रहे थे क्योंकि उन्हें फुटबॉल और क्रिकेट का भी बहुत शौक था|

Usain-Bolt-Biography-In-Hindi
Usain-Bolt-Biography-In-Hindi

कंफ्यूजन : कोच की सलाह

लेकिन बहुत जल्दी बोल्ट का यह कंफ्यूजन भी दूर हो गया जब उनके क्रिकेट कोच ने इस पर बोर्ड के दौड़ने की स्पीड देखी और बोर्ड को सलाह दिया प्रिंटिंग में कोशिश करें फिर क्या था बोल्ट ने भी अपनी कोच की सलाह मान ली और मैकनल से दौड़ की ट्रेनिंग लेने लगे |

कैरीबियन रीजनल कंपटीशन

फिर पहली बार लगभग 15 साल की उम्र में कैरीबियन रीजनल कंपटीशन में जमैका के लिए खेलते हुए

  • 2001 में 400 मीटर और 200 मीटर दौड़ में रजत पदक जीता
  • और फिर 2002 में वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप में 1 गोल्ड के साथ 3 पदक जीते

घुटनों में चोट की वजह से – ओलंपिक में हार

लेकिन उसी बीच उन्हें जीवन के कठिन समय से भी गुजरना पड़ा जब मई 2014 में घुटनों की नस की चोट की वजह से बोल्ट को ओलंपिक में हार का सामना करना पड़ा और वह कोई भी पदक जीतने में सफल नहीं हो पाए लेकिन उसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और जी जान से अगले ओलंपिक की तैयारी में लग गए और फिर क्या था

  • 2008 के समर ओलंपिक में 100 मीटर 200 मीटर और साथियों के साथ मिलकर 400 मीटर की दौड़ में तीन गोल्ड एक ही ओलंपिक में जीतकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया| 
  • इसके अलावा 2008 से लेकर अभी तक सभी ओलंपिक के 100 मीटर और 200 मीटर रेस में जीतकर वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना चुके हैं| 

Usain-Bolt-Biography-In-Hindi
Usain-Bolt-Biography-In-Hindi

बोल्ट के मेडल की सूची में से एक गोल्ड कम हो गया

लेकिन दोस्तों बता दूं कि अभी जल्दी बोल्ट के मेडल की सूची में से एक गोल्ड कम हो गया है क्योंकि 2008 के ओलंपिक में 400 मीटर की दौड़ में उनके साथी नेस्ता कार्टर का  डोपिंग टेस्ट पॉजिटिव पाया गया|

बोल्ट का कहना है कि अगर आज भी एक रनर नहीं होते तो एक तेज गेंदबाज होते क्योंकि बचपन में उनकी गेंदबाजी बहुत अच्छी थी और वे शुरू से पाकिस्तान के वकार यूनिस की गेंदबाजी के फैन थे|

उसैन बोल्ट का जीवन हमें यह सीख देता है:-

की परेशानियां कैसी भी हो अगर आप एक लक्ष्य निर्धारित कर उस लक्ष्य के लिए अपना 100 % देते हैं तो आपको सफलता जरूर मिलेगी| 

मिल ही जाएगी मंजिल भटकते भटकते

गुमराह तो वो है जो घर से निकले ही नहीं

Usain-Bolt-Biography-In-Hindi
Usain-Bolt-Biography-In-Hindi

आपका बहुमूल्य समय देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इस पोस्ट पर कमेंट करके इस पोस्ट को अपने दोस्तों के सतह जरूर शेयर करना | ( OSP )

 

Q: उसैन बोल्ट का जन्म कब हुआ था?

A: उसैन बोल्ट का जन्म 21 अगस्त 1986 को जमैका के एक छोटे से गांव शेरपुर कंटेंट में हुआ था|

 

Q: उसैन बोल्ट का पूरा नाम क्या है?

A: उसैन बोल्ट का पूरा नाम Usain St Leo Bolt है|

 

Q: बोल्ट के माता पिता का क्या नाम है?

A: बोल्ट के पिता का नाम वेलेजली और मां का नाम जेनिफर है|

NEXT

Wilma Rudolf Biography in Hindi – विल्मा रूडोल्फ

Avatar Of Letslearnsquad
LetsLearnSquadhttps://letslearnsquad.com
I am a youtuber & Blogger @ LetsLearnsquad.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular