Homepsychologyइन महिलाओ से बचो in mahilaao se purusho ko door rehna cahiye

इन महिलाओ से बचो in mahilaao se purusho ko door rehna cahiye

इन महिलाओ से बचो

Contents hide

in mahilaao se purusho ko door rehna cahiye

इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए

Male के केस में अक्सर यह बोला जाता है कि वह उतने पिकी ( छाटने वाला ) भी नहीं होते और उन्हें जिस टाइप की भी फीमेल मिले वह उसके साथ में ऐड करने के लिए रेडी रहते हैं और यह बात एक हद तक सच भी है क्योंकि मेल्स के लिए रिप्रोडक्शन की कॉस्ट बहुत कम होती है जिसकी वजह से उन्हें एक पार्टनर के बारे में इतना नहीं सोचना पड़ता जितना फीमेल को सोचना पड़ता है और वह अपनी पार्टनर की बहुत सारी बुरी क्वालिटी को इग्नोर भी कर देते हैं लेकिन अगर आप यह जानना चाहते हो कि एक्चुअल में एक रिलेशनशिप को हेल्दी कैसे रखा जाता है तो आपको थोड़ा पिकी बनना ही पड़ेगा और कहीं स्पेसिफिक टाइप की फीमेल से दूर रहना होगा इसलिए इस एपिसोड में हम कुछ ऐसी ही फीमेल की बात करेंगे जो टॉक्सिक होती हैं और आपको उनसे दूर ही रहना चाहिए|

इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए
इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए

1) THE PRINCESS / राजकुमारी

इस टाइप की फीमेल यूजुअली काफी ब्यूटीफुल होती है और इस वजह से उसे बचपन से ही हर समय कॉन्प्लीमेंट मिलते रहते हैं और जब एक बच्चे की हर समय तारीफ करी जाती है उसे कभी भी डाटा नहीं जाता उसके बुरे एक्शंस के बाद भी उसे किसी तरह के कौन से कॉन्सीक्वेसंस का सम्मना नहीं करना पड़ता हैं और उसे हर चीज काफी आसानी से  मिल जाती है तो उसमें एक सेंस ऑफ़  एंटरटेनमेंट आ जाता है कि मेरे अंदर तो कोई कमियां है ही नहीं और मैं बिना कुछ काम कर ही हर अच्छी चीज डिज़र्वे ( हक़दार ) करती हूं इस तरह की लड़की को डेट करने पर आपको हमेशा यह फील कराया जाएगा कि आपकी प्रॉब्लम होती मैटर नहीं करती वह हर इंसान से सुपीरियर है और उस लड़की की हर जरुरत और प्रॉब्लम आप से ज्यादा इंपॉर्टेंट है इसलिए अगर आप भी किसी ऐसी लड़की से मिलो जैसे यह प्रिंसेस सिंड्रोम है तो उससे दूर रहो|

2) GIRL WHO NEVER READY / वह लड़की जो कभी रेडी नहीं होती

यहां पर हम सर्जिकल और इमोशनल अटैचमेंट की बात कर रहे हैं यानी जब एक लड़की को अपने पास में किसी लड़के से धोखा मिला था वह उसे छोड़कर चला गया था उसे यूज़ करता था उसने इस लड़की के साथ धोका करा था या किसी और से डिसएप्वाइंट करा था तो इस लड़की के लिए दोबारा किसी और इंसान पर ट्रस्ट करना बहुत मुश्किल बन गया यहाँ तक की उसे अच्छे से बात करते हो और वह जानती भी है कि आप बुरे नहीं हो फिर भी वह कहीं ना कहीं अपने अंदर यह सोच रही होती है एक दिन आप अपना असली रंग जरूर दिखाओगे और इस वजह से वह कभी भी आपके साथ फिजिकली और इमोशनली इन्वोल्व्व नहीं हो पाती बल्कि वह अपने पास्ट को आप के ऊपर प्रोजेक्ट करके आपको ऐसा फील कर आती है जैसे आपने कुछ गलत करा हो जहां कहीं लड़कियां सिर्फ कुछ समय बाद ही अपने पास्ट के  रिलेशनशिप और ट्रॉमस को भर लेती हैं वहीं कई लड़कियों के इमोशंस पास्ट में ही अटके रह जाते हैं और अगर आपको लगे कि एक लड़की इस सेकंड कैटेगरी में आती है तो उससे थोड़ा दूर ही रहो और कोई ऐसी स्वीट सी लड़की ढूंढो जिसके अंदर अभी भी आशा हो और जिसके साथ आप ग्रो कर पाओ|

3) THE GOLD DIGGER / पैसो की भूक

कोई भी लड़की एक ऐसे लूजर के साथ जिंदगी नहीं बताना चाहेगी जो कोई पैसा नहीं कमाता या फिर जो उसके बच्चों को जरूरी रिसोर्सेज नहीं प्रोवाइड कर पाएगा यदि हर लड़की कॉन्शियसली यस सबकॉन्शियसली आपका स्टेटस जरूर चेक करेगी पर प्रॉब्लम तब आती है जब एक लड़की सिर्फ और सिर्फ आपके स्टेटस की वजह से आप से अटैच होती है यह फिनोमिना कॉमन नहीं है जितना आपको लगता है यानि के अगर आप एक लड़की के आगे नोटों की गाड़ियां फेंकोगे तो वह ऑटोमेटिक ही आपके प्यार में पागल नहीं हो जाएगी उल्टा ज्यादातर लड़कियां तो आपको तब भी एक लूजर बोलकर ही साइड कर देंगे यह इसलिए क्योंकि सेक्स की करेंसी हेल्थ है और एक पार्टनरशिप की करेंसी म्युचुअल अंडरस्टैंडिंग है और अगर आपको यह दोनों चीजें ही सिर्फ पैसे के दम पर मिल रही हैं तो उसका मतलब आप अपने पार्टनर के साथ कुछ भी बिल्ड नहीं कर रहे हो और एक दूसरे की पोटेंशियल को बाहर लाने में एक दूसरे की मदद नहीं कर रहे हो ऐसे रिलेशनशिप्स बहुत ज्यादा नाज़ुक होते हैं और अगर आपके लिए आपकी ग्रोथ बहुत जरूरी है तो आप कोई गोल्ड दिगर को बिल्कुल एंटरटेन नहीं करना चाहिए और अपना टाइम और एनर्जी किसी ऐसी फीमेल को देनी चाहिए जो आपके बेस्ट वर्जन को बाहर लाए ना कि सिर्फ आपके वॉलेट को

In Mahilaao Se Purusho Ko Door Rehna Cahiye 2
इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए

4) THE MAN HATER / मर्दो से नफरत करने वाली

यहां पर सीधा सीधा बात आती है एक फीमेल और उसके फादर के रिलेशनशिप की क्योंकि एक आइडियल मेल या फीमेल कैसा होना चाहिए यह आइडिया हम अपने ऑपोजिट सेक्स पेरेंट्स लेते हैं यानी हर मेल के दिमाग में एक फीमेल की इमेज होती है और फीमेल के दिमाग में मेल कि इस केस में जब एक फादर अपनी बेटी को ढंग से यह नहीं समझा पाता कि एक मेल कैसा होना चाहिए या फिर वह अपनी खुद की कॉन्ट्रैक्ट रिएक्शन की वजह से अपनी बेटी को कंफ्यूज कर देता है तो इस लड़की को खुद ही एक्सट्रीम फेज में जाकर देखना पड़ता है कि एक

आइडियल स्ट्रांग मेल कैसा होता है?

यह फीमेल्स की बेसिक नेचर होती है कि वह मेल्स को टेस्ट करती हैं क्योंकि कोई भी मेला कर यह क्लेम कर सकता है कि देखो मैं अल्फा हूं और मेरे जींस बहुत अच्छे हैं और तभी फीमेल नेचुरल है मेल को एक तरह से डोमिनेट करने की कोशिश करती हैं और देखती हैं कि वह मेल कैसे रियेक्ट करता है क्या वह डर कर अपने कैरेक्टर से बाहर आ जाता है या फिर वो तब भी एक स्ट्रांग मेल की तरह अपनी बात पर डटा रहता है जब एक लड़की को आईडिया ही नहीं होता की एक आइडियल मेल कैसा होता है जस्ट बिकॉज उसका खुद का फादर ऐपसेंड, वीक या गायब था तो उसके अंदर मेल की मेंटल इमेज गलत बन जाती है जिससे उसे ऐसा लगता है कि वह मेल से ज्यादा मैनली है और बाकी सारे मेल्स वर्थलेस हैं यह लड़कियां तब तक मैं उसको नफरत, डिस रिस्पेक्ट और यूज करती हैं जब तक इन्हें कोई ऐसा मेल नहीं मिल जाता जो इन्हें डोमिनेट कर सके इसलिए कभी भी अपना टाइम ऐसी लड़कियों को मत दो जो हमेशा ही मेल्स को एक यूज करती रहती हैं और यह नहीं समझ पाती कि उनकी रियालिटी कि परसेप्शन उनके ट्रॉमा की वजह से डिस्टोर्टेड है

5) A FEMALE WHO HAVE ONLY MALE FRIENDS / एक फीमेल जिसके सिर्फ मेल फ्रेंड होते हैं

एक इंसान जिसकी अपने सेंसेक्स से उतनी नहीं बनती और वह सिर्फ ऑपोजिट सेक्स के लोगों के साथ ही हैंग आउट करता है यह भी एक बहुत बड़ा रेड फ्लैग होता है और फीमेल के केस में अगर वह अपने जेंडर पर भी भरोसा नहीं करती या फिर अपने पीछे काफी लड़कों को घुमाना सही मानती है और उन्हें बैकअप की तरह रखती है तो सही में वह एक ऐसी फीमेल नहीं है जिसे आपको अपना टाइम और एनर्जी देनी चाहिए क्योंकि ऐसा बिहेवियर एक बहुत बेकार जगह से आ रहा होता है और ज्यादातर केस में वह ऐसे मेल फ्रेंड ही होते हैं जो बस एक मौके की तलाश में होते हैं इसलिए इस तरह की फीमेल के चक्कर में पड़ना एकदम बेकार है

6) THE COMPLAINER / हमेशा शिकायत करने वाली

दोनों टाइप में ज्यादा डिफरेंस नहीं है एक कंप्लेनर हर समय ही उदास रहती है और एक पीड़िता हमेशा यह फील करती है कि पूरी दुनिया या दूसरे लोग उसके साथ अनफेयर हैं इन फीमेल्स के लिए आप जितना भी कर लो और इनके साथ कितना भी अच्छा हो जाए लेकिन इनका बेसलाइन इमोशन कभी भी चेंज नहीं होता और अंत में इनकी इस डिप्रेसिंग एनर्जी से आपको भी डील करना पड़ता है और अगर आप काफी पॉजिटिव भी रहते हो तब भी इस टाइप की फीमेल की नेगेटिविटी आपकी लाइफ की क्वालिटी को काफी नेगेटिव इनफ्लुएंस कर सकती है इसलिए अगर आपको भी कभी कोई कंप्लेन है जब पीड़ित माइंडसेट वाली लड़की मिले तो उससे दूर रहो

7) OVERLEY EXPERIENCED / हद से ज्यादा का अनुभव

हर इंसान की अपनी चॉइस है कि वह कितने लोगों को डेट करता और उनके साथ इंटीमेट होता है और जब आप अपने लिए एक पार्टनर को ढूंढ रहे होते हो तो उन फीमेल से दूर रहना बहुत जरूरी है जिनके पास में बहुत सारे पार्टनर्स रह चुके हैं या फिर वह पहले काफी तेज़ थी यह एक बहुत बड़ा रेड फ्लैग होता है क्योंकि एक साइकोलॉजी की हल्दी फीमेल इस बात को समझती है कि उसकी चॉइस और एक्शंस बहुत ज्यादा मायने रखते हैं क्युकी उसकी रीप्रोडक्टिव कॉस्ट बहुत ज्यादा है यानी अगर उसकी चॉइस गलत निकली और उसने एक यूज़ लेस लड़के के साथ मेट कर लिया तो उसे उस लूजर मेल के बेकार आदत वाले जींस को अगले जनरेशन में पहुंचाना पड़ेगा और ऐसी सिचुएशन एक फीमेल की बायोलॉजी के अगेंस्ट जाती है इसलिए अगर एक फीमेल बार-बार अपना पार्टनर चेंज करती है तो उसका मतलब वह पेरेंटिंग या अपने चाइल्डहुड एक्सपीरियंस इसकी वजह से साइकोलॉजी ट्रौमा में है और उसने अभी तक अपने आप को भरा ( उभरा ) नहीं  है इसलिए ना तो आपको ऐसी महिलाओ को कुछ बुरा भला बोलना चाहिए और सेम टाइम आपको इनके साथ रिलेशनशिप में नहीं आना चाहिए

इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए
इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए

8) GET ATTENTION GIRL / सबका ध्यान अपनी और करने वाली लड़की

यहां पर हम उस टाइप की फीमेल की बात कर रहे हैं जो काफी self-centered होती है और उसे हर टाइम सबकी अटेंशन अपने ऊपर चाहिए होती है और टेंशन और अप्रूवल लेने का इनका यह व्यवहार कई प्रकार में दिख सकता है जैसे हो सकता है की वो एक ड्रामा क्वीन है और हमेशा चीख कर और चिल्ला कर यह बच्चों की तरह नाराज होकर अटेंशन अपनी तरफ लाती है या वह बहुत गॉसिप करती है और इधर की बात उधर पहुंचाती है ताकि वह अपने सर्कल में पॉपुलर बन सके और सबका ट्रस्ट पा सके या फिर वह पार्टी गर्ल टाइप भी बन सकती है जो हमेशा ड्रिंक करने के बाद तमाशा करती है ताकि लोग उसे अटेंशन दें और यह आपकी रिस्पांसिबिलिटी है कि आप इन व्यवहार को शुरू में ही आईडेंटिफाई करो और ऐसी लड़कियों से दूर रहो|

9) ONLY INNER BEAUTY OR OUTER BEAUTY / सिर्फ अंदर की सुंदरता या फिर सिर्फ बहार की सुंदरता

यानी या तो उसके पास सुंदरता के अलावा कुछ ऑफर करने के लिए नहीं है या फिर वह अपनी

  1. फिजिकल
  2. इमोशनल
  3. और साइकोलॉजिकल हेल्थ

की बिल्कुल परवाह नहीं करती है क्योंकि साइंस के हिसाब से ब्यूटी एक इंसान की हेल्थ को रिप्रेजेंट करती है जिस लड़की के अंदर ड्यूटी के अलावा कुछ नहीं है उसके साथ शुरू में तो आपको बहुत अच्छा लगेगा क्योंकि सुंदरता एक मेल को अंधा बना देती है पर टाइम के साथ-साथ जब आपको समझ आने लगेगा कि जिस इंसान को आप अपनी लाइफ में एक हमसफ़र समझ रहे थे उसके साथ आप कभी भी कुछ मीनिंग फुल चीज नहीं क्रिएट कर सकते हो क्योंकि आप दोनों की रिलेशनशिप में कोई गहराई ही नहीं है और उस पॉइंट पर आप इधर ब्यूटी की वैल्यू समझोगे – दूसरी तरफ जिस लड़की में किसी भी तरह की ब्यूटी नहीं है यानी ना तो वह अपनी बॉडी को हेल्दी रखती है और ना ही वह साइकोलॉजी कली हल्दी है तो ऐसी लड़की के साथ रहने का भी कोई रीज़न नहीं होता इसलिए अंदर की ब्यूटी और बहार की ब्यूटी दोनों को प्रायोरिटी दो और अगर एक लड़की में यह क्वालिटीज मिसिंग है तो यह पक्का है कि आपको प्रेजेंट में नहीं तो थोड़े समय बाद अपनी लाइफ में इस ब्यूटी की कमी जरूर होगी | 

हमने आपको इस पोस्ट में बताय की in mahilaao se purusho ko door rehna cahiye / इन महिलाओं से पुरुषों को दूर रहना चाहिए – अगली पोस्ट में हम और भी रोचक जानकारी लेके आएँगे

धन्यवाद

NEXT

जीवन में सही अर्थ कैसे पाए | Jivan me Sahi Arth Kaise Paye

OSP

 

Avatar Of Letslearnsquad
LetsLearnSquadhttps://letslearnsquad.com
I am a youtuber & Blogger @ LetsLearnsquad.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular