HomeStudent Careerलाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? MLIS क्या होता है?

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? MLIS क्या होता है?

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? MLIS क्या होता है?

 

MLIS का पूरा नाम है मास्टर इन लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस में करियर बनाने के लिए इंडिया में कई सारे कोर्स अवेलेबल है जैसे की:-

  • सर्टिफिकेट कोर्स – सर्टिफिकेट कोर्स को आप ट्वेल्थ के बाद कर सकते हैं इसके अलावा डिप्लोमा कोर्स भी होते हैं जिन्हें आप ट्वेल्थ के बाद कर सकते हैं और जो बैचलर डिग्री होता है इनका ड्यूरेशन भी कुछ 1 साल के करीब होता है और कुछ का 2 से 3 साल भी होता है इसे भी आप ट्वेल्थ के बाद कर सकते हैं|
  • बैचलर डिग्री के बाद आता है MASTER DEGREE – मास्टर डिग्री करने के लिए ग्रेजुएशन कंप्लीट होना जरूरी है
  • मास्टर डिग्री करने के बाद कर सकते हैं M.PHIL

तो फिलहाल आज हम बात करने वाले हैं एमएलआईएस कोर्स के बारे में यह एक मास्टर डिग्री तो इसे करने के लिए पहले आपका बैचलर डिग्री कंप्लीट होना जरूरी है तो चलिए हम इस कोर्स के बारे में डिटेल में बात करते हैं इस का फुल फॉर्म मैंने आपको बता ही दिया है यह कोर्स 1 साल का प्रोफेशनल पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है| और इसमें टोटल 2 सेमेस्टर होते हैं एक सेमेस्टर के ड्यूरेशंस सिक्स मंथ की होती है तो इस तरीके से 1 साल में टोटल 2 सेमेस्टर होते हैं और इस कोर्स को शॉर्ट फॉर्म में [ M.Lib.l.Sc ] कहते हैं और इसे और भी शार्ट तरीके में MLIS कहते हैं तोआप कंफ्यूज मत हो जाएगा आगे हम बात कर लेते हैं इस लाइब्रेरी कोर्स के सब्जेक्ट के बारे में तो यहां पर कुछ शब्द दिए गए हैं जो आपको इस मास्टर डिग्री में पढ़ाए जाते हैं जैसे की:-

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

  • प्लानिंग एंड मैनेजमेंट
  • लाइब्रेरी मैनेजमेंट
  • रिसर्च मेथाडोलॉजी
  • कंप्यूटर बेसिक एंड एप्लीकेशंस
  • स्टैटिसटिकल टेक्निक्स एंड अलाइक

कुछ इस टाइप के सब्जेक्ट आपको इस कोर्स में पढ़ने को मिल जाते हैं इसके अलावा इस कोर्स का क्या सिलेबस है वह भी हमारे पोस्ट में जरूर जाएंगे इससे पहले हम बात कर लेते हैं एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया के बारे में|

एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

तो योग्यता में आपके पास बैचलर डिग्री होना जरूरी है मतलब कि आपको ग्रेजुएट होना जरूरी है और आपको बैचलर डिग्री इन दोनों में से कोई एक करनी होगी या तो बैचलर इन लाइब्रेरी साइंस अगर आपने यह किया है तब आप इस मास्टर डिग्री के लिए एलिजिबल है अगर आपने यह बैचलर डिग्री नहीं की है तो इसके अलावा आपके पास यह वाला होना चाहिए बैचलर ऑफ लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस [ BLI.Sc ]

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

इन दोनों में से अगर कोई भी एक कोर्स आपने कर रखा है तभी आप इस कोर्स के लिए एलिजिबल होंगी कहने का मतलब यह है कि अगर आप एम एल आई एस का कोर्स करना चाहते हैं तो पहले आपका बीएलआईबी का कोर्स कंप्लीट होना जरूरी है [ B.LIB. ] या फिर [ BLI Sc ] का कोर्स कंप्लीट होना जरूरी है इन डिसिप्लिन में आपने बैचलर डिग्री किया है तभी आप इस मास्टर डिग्री के लिए एलिजिबल होंगे वरना नहीं होंगे और यहां पर मार्क्स दिए हुए हैं ग्रेजुएशन में आपके मार्क्स कम से कम 50% से 60% होनी चाहिए मांस का क्राइटेरिया कॉलेज पर डिपेंड करता है जितने अच्छे रैंकिंग के कॉलेज में जितने अच्छे लेवल पर कॉलेज में आप एडमिशन लेंगे उतना ही मार्क्स क्राइटेरिया ज्यादा होता है इसके बाद हम बात कर लेते हैं एज लिमिट की

एज लिमिट

तो इस कोर्स में यानी किस मास्टर डिग्री में एडमिशन लेने की एज लिमिट 20 से 22 साल के अप्रॉक्स होती है और इसमें कोई अप्पर एज लिमिट नहीं दी गई है तो यह एडमिशन लेने की एज लिमिट है 20 से 22 इयर्स और इस कोर्स की एवरेज फीस ₹10000  है यानी कि 1 साल का खर्चा आपका कम से कम 10,000 का होगा और जैसा कि मैंने आपको इस कोर्स की समय सीमा बता दी है इस कोर्स की समय सीमा 1 साल की है तो 1 साल यानी कि आपका टोटल खर्चा 10,000 का हो सकता है और कुछ जो कॉलेज होते हैं कॉलेज के हिसाब से फीस होती है तो कुछ कॉलेज में इसकी फीस ज्यादा भी होती है कहीं पर कम भी होती है| और इस कोर्स को आप फुल टाइम भी कर सकते हैं और डिस्टेंस लर्निंग से भी कर सकते हैं

डिस्टेंस कोर्स

जैसे कि जो स्टूडेंट घर बैठे इसको इसको करना चाहते हैं उसको उसको किसी डिस्टेंस लर्निंग यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं और जो स्टूडेंट्स रोज कॉलेज आ कर पढ़ना चाहते हैं वह रेगुलर यूनिवर्सिटी से कोर्स कर सकते हैं तो जो भी स्टूडेंट्स इस कोर्स को डिस्टेंस लर्निंग से करना चाहते हैं वह यहां पर यूनिवर्सिटी के नाम देख सकते हैं जैसे कि:-

  • विकी विनायका मिशन यूनिवर्सिटी जिसे शॉर्ट में बी एम यू कहते हैं आप इस यूनिवर्सिटी की साइट चेक कर सकते हैं यहां से आप इस कोर्स को डिस्टेंस लर्निंग में कर सकते हैं
  • इसके बाद इग्नू यह तो बहुत ही फेमस यूनिवर्सिटी है शायद आपने उसका नाम सुना भी होगा इसके ब्रांच हर स्टेट में है तो जिस स्टेट में आप रहते हैं वहां की ब्रांच में आप एडमिशन ले सकते हैं
  • इसके बारे में आई एम एस यूनिवर्सिटी यहां से प्राप्त कर सकते हैं
  • इसके बाद आ तमिल यूनिवर्सिटी डिस्टेंस एजुकेशन
  • इसके बाद लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी एलपीयू – डिस्टेंस एजुकेशन प्रोवाइड करता है
  • तो जो भी स्टूडेंट इस कोर्स को डिस्टेंस लर्निंग से करने में इंटरेस्टेड है वह इन में से किसी एक यूनिवर्सिटी को सेलेक्ट कर सकते हैं

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

रेगुलर कोर्स

जो इस कोर्स को रेगुलर मोड में करना चाहते हैं रेगुलर मोड में करने वाले स्टूडेंट्स यहां पर कुछ यूनिवर्सिटी के नाम दिए हैं उनसे कर सकते हैं|

  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी जो कि वाराणसी में है
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कलकत्ता जो कि कोलकाता में है
  • ओसमानिया यूनिवर्सिटी जोकि हैदराबाद में है
  • जादवपुर यूनिवर्सिटी कोलकाता में है
  • पंजाब यूनिवर्सिटी डिपार्टमेंट ऑफ लाइब्रेरी एंड इनफॉरमेशन साइंस चंडीगढ़ में है
  • अन्ना यूनिवर्सिटी चेन्नई में है
  • यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली, दिल्ली
  • सावित्रीबाई फूले पुणे यूनिवर्सिटी , पुणे
  • गुजरात यूनिवर्सिटी , अहमदाबाद 
  • असआरएम  यूनिवर्सिटी , हरयाणा 

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

तो यह है कुछ रेगुलर से करने वाले जहां से आप इस कोर्स को रेगुलर से कर सकते हैं| तो यहां पर मैंने आपको दोनों तरह के यूनिवर्सिटीज के नाम बता दिए हैं वह भी यूनिवर्सिटी से डिस्टेंस कोर्स का ऑफर करते हैं और वह भी यूनिवर्सिटी जो इस कोर्स को रेगुलर से प्रोवाइड कर आते हैं तो आप किसी भी तरह की यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं और अगर आप जानना चाहते हैं इसका एडमिशन प्रोसेस तो ज्यादातर कॉलेज में इस कोर्स का जो एडमिशन है वह मेरिट बेस्ट होता है यानी कि आपका जो मार्क्स होगा ग्रेजुएशन का उसी के आधार पर आपको एडमिशन मिल जाता है| और कुछ ऐसे भी कॉलेज होते हैं जो खुद का एंट्रेंस एग्जाम कंडक्ट कराते हैं इस कोर्स में एडमिशन के लिए|

MLIS सिलेबस

हम बात कर लेते हैं इस कोर्स के सिलेबस के बारे में तो यहां पर आप जान सकते हैं क्या क्या टॉपिक आपको पढ़ने को मिलेंगे जैसे कि:-

  • सॉफ्टवेयर 
  • नेटवर्क एंड नेटवर्किंग
  • लाइब्रेरी क्लासिफिकेशन
  • स्टोरेज एंड मेंटेनेंस
  • फाइनेंसियल मैनेजमेंट
  • टेक्निकल प्रोसेसिंग
  • हिस्टोरिकल ओवरव्यू ऑफ लाइब्रेरी डेवलपमेंट
  • डिजिटल लाइब्रेरी एंड अदर्स 

MLIS कोर्स में स्टूडेंट्स को आईटी साइंस की डेप्थ नॉलेज मिलती है साथ ही में लाइब्रेरी मैनेजमेंट स्किल्स भी रिलेटेड सिखाए जाते हैं इस प्रोग्राम में लाइब्रेरी से रिलेटेड एक्टिविटीज के अलावा भी आपको बहुत कुछ सिखाया जाता है जैसे कि सभी टाइप के इंफॉर्मेशन को हैंडल करना और उन्हें एक्सेस करना|

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

एम एल आई एस का कोर्स बाहर के देशों में भी बहुत ही पॉपुलर है तो आप ही सही किसी इंटरनेशनल कॉलेज से भी कर सकते हैं जैसे कि

  • दुबई
  • शिकागो
  • मॉरिशियस
  • कुवेत

इन सब जगह से भी आप इस कोर्स को कर सकते हैं क्योंकि फॉरेन कंट्रीज में भी यह कोर्स बहुत ही पॉपुलर है हम बात कर लेते हैं जॉब अपॉर्चुनिटी उसके बारे में|

जॉब अपॉर्चुनिटी

लाइब्रेरियंस को ज्यादातर एजुकेशन सेक्टर में जॉब मिलती है तो सबसे पहले हम देखेंगे एंप्लॉयमेंट एरिया तो यहां पर दिए हुए हैं एंप्लॉयमेंट एरिया जहां पर आप को जॉब मिल सकती है इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद सबसे पहले नाम आता है

  • यूनिवर्सिटीज और कॉलेज का यूनिवर्सिटी और कॉलेज में भी लाइब्रेरीज होती है तो आपके यहां पर भी काम कर सकते हैं इसके अलावा
  • कोर्टहाउसएस
  • पब्लिक स्कूल
  • ऑफिस
  • म्यूजियम

से भी काम कर सकते हैं आप और जो लोकल लाइब्रेरी बिल्डिंग सोती हैं कुछ पब्लिक और प्राइवेट लाइब्रेरी भी होती हैं वहां पर भी आपको काम करने का मौका मिल सकता है

  • कारपोरेट ट्रेनिंग सेंटर रिसर्च इंस्टीट्यूशंस
  • मीडिया
  • कंसलटिंग फर्म

लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?
लाइब्रेरी कोर्स कैसे करे? और कैसे होता है? Mlis क्या होता है?

यह तो गए एंप्लॉयमेंट एरिया अब हम बात करते हैं जॉब प्रोफाइल की तो आपका काम करने का पोजीशन क्या क्या हो सकता है जैसे कि:-

  • असिस्टेंट लाइब्रेरियन
  • टेक्निकल राइटर
  • पर्सनल असिस्टेंट
  • लाइब्रेरियन
  • लाइब्रेरी अटेंडेंट
  • लाइब्रेरी एंड इनफार्मेशन असिस्टेंट
  • डिप्टी लाइब्रेरियन
  • इंफॉर्मेशन आर्किटेक्ट
  • टेक्निकल राइटर

इसके अलावा कॉरपोरेट सेक्टर और गवर्नमेंट सेक्टर में भी जॉब कर सकते हैं बात करें कॉरपोरेट सेक्टर की तो जैसे की

  • मार्केटिंग 
  • वेब कंटेंट मैनेजमेंट
  • डिजाइन नॉलेज मैनेजमेंट
  • इनफार्मेशन सिस्टम
  • डाटाबेस डेवलपमेंट
  • आप एक राइटर ऑथर के रूप में भी काम कर सकते हैं|

सैलरी

जॉब के बाद अब हम बात कर लेते हैं सैलरी के बारे में तो आपकी जो लगभग स्टार्टिंग की सैलरी होगी वह तीन से चार लाख  की होगी 1 साल का आपका सैलरी इतना हो सकता है तीन से चार लाख का | इसके अलावा जैसे-जैसे आप का एक्सपीरियंस बढ़ेगा वैसे-वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ेगी| सैलरी बहुत सारी चीजों पर डिपेंड करती है जैसे कि

  • आपका एक्सपीरियंस क्या है ?
  • आपकी जॉब प्रोफाइल क्या है?
  • एंप्लॉयमेंट एरिया क्या है लोकेशन क्या है?

इन सभी चीजों पर डिपेंड करती है|आपको एक चीज का ध्यान रखना है जो आपने बैचलर डिग्री की है वह लाइब्रेरी के डिसिप्लिन से ही होना चाहिए और जब आप वह कोर्स कर लेते हैं उसके बाद ही आपको मास्टर डिग्री इसमें करना होता है ऐसा नहीं है कि आप किसी भी डिसिप्लिन से बैठे डिग्री करने के बाद इस मास्टर डिग्री को कर पाएंगे ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है तो अगर आपको आज का यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे | धन्यवाद

Previous Post:-

12th एग्जाम के बाद और रिजल्ट से पहले क्या करे?

Avatar Of Letslearnsquad
LetsLearnSquadhttps://letslearnsquad.com
I am a youtuber & Blogger @ LetsLearnsquad.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular