HomeStudent Careerतहसीलदार कैसे बने? प्रमोशन , एग्जाम - जरूरी बाते

तहसीलदार कैसे बने? प्रमोशन , एग्जाम – जरूरी बाते

तहसीलदार कैसे बने? प्रमोशन , एग्जाम – जरूरी बाते

 

तो पहले हम जानेंगे

  • तहसीलदार क्या होता है?
  • फिर जानेंगे तहसीलदार कैसे बने?
  • तहसीलदार के क्या-क्या काम होते हैं?
  • तहसीलदार को कैसे प्रमोशन मिलता है?

तहसीलदार क्या होता है?

उत्तर प्रदेश में जब नायाब तहसीलदार को प्रमोशन मिलता है तब वह तहसीलदार बनता है यानी कि तहसीलदार के पद पर डायरेक्ट भर्ती नहीं होती है पहले नायाब तहसीलदार के पद पर भर्ती होती है और फिर जब उसको प्रमोशन मिलता है तभी वह तहसीलदार बनता है अब नायाब तहसीलदार क्या होता है तो नायाब तहसीलदार, तहसीलदार का सबोर्डिनेट होता है नायाब तहसीलदार को इंग्लिश में डिप्टी तहसीलदार भी कहते हैं इसे आप इस तरीके से समझ सकते हैं कि स्कूल में प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल दोनों होते हैं तो प्रिंसिपल का औदा बड़ा होता है और उसके बाद वाइस प्रिंसिपल का पोस्ट होता है ठीक इसी तरह यहां पर पहले तहसीलदार का पोस्ट आता है उसके नीचे नायाब तहसीलदार का पोस्ट होता है पहले आपको नायाब तहसीलदार बनना पड़ता है फिर जब आपको प्रमोशन मिलेगा तो आप तहसीलदार बन जाएंगे और जब आपको प्रमोशन मिलता है फिर आप एसडीएम बनते हैं का मतलब होता है सब डिविजनल मजिस्ट्रेट

तहसीलदार कैसे बने
तहसीलदार कैसे बने

तहसीलदार को अलग-अलग स्टेट में अलग-अलग नामों से जाना जाता है और तहसीलदार को इंग्लिश में कहते हैं एग्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट जैसे कि भारत में अलग अलग राज्य हैं और राज्यों में फिर अलग-अलग डिस्ट्रिक्ट हैं और डिस्ट्रिक्ट में अलग-अलग तहसील है तो एक पर्टिकुलर तहसील का जो अधिकारी होता है वह तहसीलदार कहलाता है भारत के ज्यादातर राज्यों में तहसीलदार को क्लास वन गैजेटेड ऑफीसर्स माना जाता है

गैजेटेड ऑफिस अर्थ क्या होता है?

तो गवर्नमेंट सेक्टर में पब्लिक वर्क फोर्स इसको चार अलग-अलग ग्रुप्स में डिवाइड किया गया है ग्रुप ए ग्रुप बी और ग्रुप सी इसके बाद ग्रुप डी तो गैजेटेड ऑफीसर सुपरिटेंडेंट होते हैं जो कि इंडिया में जो पब्लिक सर्वेंट बांके वर्क करते हैं इन्हें गैजेटेड ऑफीसर कहा जाता है तहसीलदार को भी क्लास वन गैजेटेड ऑफीसर्स माना जाता है इसके बाद हम जानते हैं|

तहसीलदार कैसे बने? और शैक्षिक योग्यता में क्या-क्या चीजों की जरूरत होती है?

पहले तो आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए अगर आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री है तब आप तहसीलदार बनने के लिए अप्लाई कर सकते हैं और अगर आपके पास पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री है तो और अच्छी बात है कि आपके पास पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री है तब भी आप अप्लाई कर सकते हैं आपकी जो ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री है किसी भी  मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से होनी चाहिए | इसके अलावा एक खास बात है लॉ की डिग्री के लिए अगर आपके पास लॉ की डिग्री है तो आपका जो सिलेक्शन होगा वह पहले होगा|

तहसीलदार कैसे बने
तहसीलदार कैसे बने

ऐज लिमिट

तो इसमें मिनिमम 21 और मैक्सिमम 42 इयर्स और जो एससी एसटी ओबीसी कैटेगरी के स्टूडेंट है उनको ऐज रिलैक्सेशन मिलता है आगे हम बात कर लेते हैं इसके सिलेक्शन प्रोसेस के बारे में तो एक तहसीलदार बनने के लिए जो आपका सिलेक्शन प्रोसेस होता है उसमें तीन चरण होते हैं 3 स्टेप होते हैं पहला स्टेप होता है

  •  स्क्रीनिंग टेस्ट
  • मेन एग्जाम
  • इंटरव्यू

स्क्रीनिंग टेस्ट को हिंदी में कहते हैं जांच परीक्षा मेन एग्जाम  को मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू तो आप जानते हैं इसे हिंदी में कहते हैं साक्षात्कार

पहले हम जानते हैं स्क्रीनिंग टेस्ट के बारे में थोड़ा डिटेल में

स्क्रीनिंग टेस्ट में टोटल आपके जो क्वेश्चन होते हैं वह 120 होते हैं और सभी क्वेश्चन 1-1 मार्क्स के होते हैं इसलिए टोटल मार्क्स होता है इसका वह 120 होता है आपको 2 घंटे का टाइम मिलता है आपको यह टेस्ट पूरा करने का इसमें अगर सब्जेक्ट की बात करें तो इसमें तीन सब्जेक्ट रिलेटेड क्वेश्चन पूछे जाते हैं

  • जनरल नॉलेज- सामान्य ज्ञान 
  • करंट अफेयर्स
  • मानविकी

सब्जेक्ट से भी क्वेश्चन पूछे जाते हैं मानविकी के सब्जेक्ट में आता है हिस्ट्री, ज्योग्राफी, इकोनॉमिक्स, सब्जेक्ट के क्वेश्चन पूछे जाते हैं इसमें

नायब तहसीलदार के पद पर सिर्फ 50 परसेंट ही डायरेक्ट भर्ती होती है बाकी जो 50 परसेंट भर्ती होती है वह प्रमोशन के जरिए होती है यानी कि आपको तहसीलदार बनने के लिए भी प्रमोशन की जरूरत है और नायब तहसीलदार बनने के लिए प्रमोशन के अलावा आप डायरेक्ट भर्ती भी पा सकते हैं|

मेन एग्जाम

इसके बाद हम जानते हैं मेन एग्जाम के बारे में डिटेल में मेन एग्जाम के बारे में यहां पर एक चार्ट बनाकर आपको समझाया गया है सब्जेक्ट कौन-कौन से होते हैं मैंने एग्जाम में तो यहां पर आपको चार शब्द दिए जाते हैं इनसे रिलेटेड  क्वेश्चन आते हैं|

यहां पर मैक्सिमम मार्क्स दिए गए हैं और यहां ड्यूरेशन

Teheseeldaar Kaise Bane 4 Scaled
तहसीलदार कैसे बने

पहला सब्जेक्ट है जनरल नॉलेज एंड करंट अफेयर्स का इससे आपके सो नंबर के क्वेश्चन पूछे जाते हैं इसका ड्यूरेशन होता है  2 घंटे का, अगला सब्जेक्ट इंग्लिश का इससे आपके 50 मार्क्स के क्वेश्चन पूछे जाते हैं और इसमें आपको डेढ़ घंटे का समय मिलता है तीसरा आप का सब्जेक्ट इंग्लिश एस्से 50 मार्क्स का होता है आपका इसमें भी आपको टोटल डेढ़ घंटे का समय मिलता है अगला है हिन्दी  यह भी 50 मार्क्स का होता है आपका इसमें भी आपको टोटल डेढ़ घंटे का समय मिलता है|  जब आप पहला एग्जाम पास कर लेते हैं यानी कि जब आप स्क्रीनिंग टेस्ट पास कर लेते हैं तभी आपको मेन एग्जाम के लिए बुलाया जाता है अगर आप स्क्रीनिंग टेस्ट पास नहीं कर पाएंगे तो आपका मेन एग्जाम नहीं लिया जाता है इसलिए जरूरी है कि आप पहले स्क्रीनिंग टेस्ट पास करे और स्क्रीनिंग टेस्ट को प्री एग्जाम भी कहा जाता है इसके बाद जानते हैं इंटरव्यू के बारे में जब आप मेन एग्जाम पास कर लेते हैं फिर आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है तो इंटरव्यू में आपके जो क्वेश्चन पूछे जाते हैं वह भी कुछ जनरल नॉलेज और करंट अफेयर्स से रिलेटेड होते हैं इसके अलावा और भी कई तरह के क्वेश्चन पूछे जाते हैं और तहसीलदार बनने के लिए आपको कंप्यूटर का बेसिक नॉलेज होना भी जरूरी है और आपके पास डिग्री होनी चाहिए और आप किसी भी स्ट्रीम के स्टूडेंट्स हो आप तहसीलदार बन सकते हैं|

सैलरी

आगे हम बात करते हैं सैलरी के बारे में तो एक तहसीलदार की जो सैलरी होती है नायब तहसीलदार की सैलरी वह 9,300 से लेकर के 34,800 होती है इसमें आपको कुछ फैसिलिटी से मिलती है जो कि आपको गवर्नमेंट प्रोवाइड कराती है आगे हम बात करते हैं

तहसीलदार के क्या-क्या काम होते हैं?

तहसीलदार कैसे बने
तहसीलदार कैसे बने

तो तहसीलदार का काम देखते हम यहां पर क्या-क्या होता है तहसीलदार का पद संभालने वाले अधिकारी भूमि कर और राजस्व से संबंधित मामलों की अध्यक्षता करते हैं | एक तहसीलदार भूमि कर और राजस्व यानी कि लैंड टैक्स और राजस्व को इंग्लिश में कहते हैं रेवेन्यू तो इन सभी से रिलेटेड जो भी मैटर होता है उन्हें कंडक्ट करता है और एक तहसीलदार रिवेन्यू एजेंसी का चार्ज होता है रेवेन्यू से रिलेटेड कामों की जो जिम्मेदारी होती है वह तहसीलदार की होती है जैसे कि रिकॉर्ड और अकाउंट को मेंटेन रखना पटवारी और कानूनगो जो होते हैं वह तहसीलदार के निगरानी में ही काम करते हैं जो भी धन तहसीलदार के चार्ज में इकट्ठा होता है उसकी सुरक्षा करने की जिम्मेदारी भी तहसीलदार की होती है और प्रॉपर्टी खाली करवाना उस का बंटवारा करना यह सभी जिम्मेदारी एक तहसीलदार की होती है हम बात करते हैं प्रमोशन के बारे में उनका प्रमोशन जो होता है पहले आप नायब तहसीलदार बनते हैं एग्जाम पास करके नायाब तहसीलदार के बाद आपका एक एग्जाम होता है जिसे स्टेट सर्विस एग्जाम कहते हैं अलग-अलग स्टेट में यह अलग-अलग एग्जाम होता है इसलिए इसका नाम है स्टेट सर्विस एग्जाम जब आप ये एग्जाम सक्सेसफुली क्लियर कर लेते हैं पास हो जाते हैं तब आप बनते हैं तहसीलदार आगे हम जानते हैं|

तहसीलदार और नायब तहसीलदार में अंतर क्या है?

तो इसमें बस थोड़ा सा अंतर है जिस तरह से स्कूल में प्रिंसिपल एंड वाइस प्रिंसिपल में डिफरेंस होता है इसी तरह से आप नायब तहसीलदार और तहसीलदार का अंतर समझ सकते हैं जो तहसीलदार होता है उसका औदा ऊंचा होता है और नायब तहसीलदार उसे नीचे का पोस्ट है|

तहसीलदार कैसे बने
तहसीलदार कैसे बने

अगर आपके मन मई कोई भी सवाल हो तो जरूर पूछना | धन्यवाद

पिछली पोस्ट:-

रेलवे विभाग में क्लर्क कैसे बने? पूरी जानकारी

 

Avatar Of Letslearnsquad
LetsLearnSquadhttps://letslearnsquad.com
I am a youtuber & Blogger @ LetsLearnsquad.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular