HomeStudent Careerआईएएस और पीसीएस में अंतर - जरुरी बातें

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

आईएएस और पीसीएस में अंतर

आईएएस और पीसीएस में अंतर

आईएएस और पीसीएस में क्या अंतर होता है? आईएएस और पीसीएस का एग्जाम का अंतर इसमें पोस्ट में क्या अंतर होता है? सैलरी प्रमोशन पावर इन सबके डिफरेंस के बारे में.।

यूपीएससी

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

यू पी ए सी का पूरा नाम है यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन इसे हिंदी में कहते हैं संघ लोक सेवा आयोग यूपीएससी भारत सरकार के केंद्रीय भर्ती एजेंसी है यानी कि इंडियन गवर्नमेंट की सेंट्रल रिक्रूटिंग एजेंसी है जो कि सिविल सर्विस एग्जाम कंडक्ट कराती हैं सीएससी से शार्ट में कहते हैं और उसका पूरा नाम है सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन।

एग्जाम आईएएस, आईपीएस, आईएफएस, आईआरएस आदि पदों की भर्ती के लिए कराया जाता है सीएसई में जो टॉप मत हासिल करते हैं सिर्फ उन्हीं कैंडिडेट को आईएस बनाया जाता है जो एग्जाम होता है यह नेशनल लेवल पर होता है और सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा कराया जाता है।

आईएएस और पीसीएस के पहला अंतर

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

आईएएस

सबसे पहला जो आईएएस का डिफरेंस है यह है आईएएस ऑफिसर की भर्ती सिविल सर्विस एग्जामिनेशन के जरिए होता है और इस पद के लिए पूरे भारत में सिर्फ एक ही परीक्षा होती है यानी कि कहीं पर भी किसी भी स्टेट में अगर आईएएस ऑफिसर की एग्जामिनेशंस होते हैं तो वह एग्जाम शेम होते हैं

पीसीएस 

पी सी एस ऑफिसर की भर्ती स्टेट सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन के जरिये होता है और अलग-अलग स्टेट में पीसीएस की जो परीक्षा होती है वह अलग अलग होती है तो यह जो एग्जाम होता है पी सी एस ऑफिसर का यह स्टेट लेवल पर होता है जबकि आईएएस का एग्जाम नेशनल लेवल पर होता है स्टेट लेवल पर होने की वजह से हर एक एस्टेट में इसका जो पेपर होता है वह अलग अलग होता है सिलेबस भी इसका अलग अलग होता है

जिसका पीसीएस बनना चाहते हैं आपको उसे स्टेट पीसीएस का एग्जाम देना होगा जैसे कि अगर यूपी के पीसीएस बनना चाहते हैं तो आपको देना होगा यूपीपीएससी अगर आप आंध्र प्रदेश के पीसीएस बनना चाहते हैं तो इसके लिए है ए पि पि एस सी एग्जाम और एमपी के लिए एमपीपीएससी एग्जाम तो अलग-अलग के अलग-अलग एग्जाम होते हैं जोकि स्टेट कंडक्ट कराती है

 

आईएएस और पीसीएस के दूसरे अंतर

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

एग्जाम

आईएएस और पीसीएस के दूसरे अंतर के बारे में और इसका दूसरा डिफरेंस हम जानते हैं आईएएस एग्जाम के बारे में आईएएस का जो एग्जाम है यह तीन हिस्सों में होता है पहला स्टेप होता है

  1. प्रिलिमनरी एक्जाम

2. मेंस एग्जाम

3. इंटरव्यू

तो इस तरीके से 3 स्टेप में आईएएस का एग्जाम होता है

यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जामिनेशन में एक कंपलसरी क्वालीफाइंग एप्टिट्यूड टेस्ट होता है जिसे सीसैट कहते हैं सीसैट का पूरा मतलब है सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट एग्जाम में जो क्वेश्चन पूछे जाते हैं वह कांसेप्ट बेस्ट होते हैं और आईएएस के एग्जाम में क्वालीफाइंग रीजनल लैंग्वेज का भी पेपर होता है

पीसीएस एग्जाम भी 3 स्टेप्स में होता है इसका एग्जाम पहला स्टेप है प्रिलिमनरी एक्जाम दूसरा है मैन्स और तीसरा है इंटरव्यू इसमें जो क्वेश्चन पूछे जाते हैं वह कांसेप्ट बेस्ड न होकर फैक्ट बेस्ड होते है यानी कि फेक्चुअल क्वेश्चन होते हैं और पीसीएस के एग्जाम में जो क्वालिफाइड एप्टीटुड टेस्ट सीसैट है यह कोई फिक्स नहीं होता कि एग्जाम होगा या नहीं होगा कभी-कभी एग्जाम हो ही जाता है कभी नहीं भी होता है और पीसीएस के एग्जाम में कुछ स्टेट में कम्पल्सरी रीजनल लैंग्वेज का पेपर होता है या फिर स्टैटिसिस पेपर होता है तो इस तरीके से आईएएस और पीसीएस एग्जाम में भी डिफरेंस है

 

आईएएस और पीसीएस ऑफीसर के नियुक्ति

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

आईएएस और पीसीएस ऑफीसर के नियुक्ति के बारे में आईएएस अधिकारियों की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति करते हैं लेकिन यह आवंटित किए गए केडेर में स्टेट गवर्नमेंट के अंडर काम करते हैं इसके बाद बात करें पीसीएस की नियुक्ति की तो पीसीएस जो है यह स्टेटमेंट के द्वारा नियुक्त किए जाते हैं अपॉइंटेड किए जाते हैं और यह पूरी तरह से स्टेट गवर्मेंट के अंदर काम करते हैं

 

आईएएस की सैलरी और पे स्केल के बारे में

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

आईएस को वेतन और पेंशन यानी की सैलरी और पेंशन दोनों ही कैडर स्टेट के द्वारा मिलता है लेकिन एक आईएएस की नियुक्ति चाहे किसी भी स्टेट में हुआ है उसकी सैलरी जो होती है वह हर जगह सेम होती है यानी कि पूरे इंडिया में एक आईएएस ऑफिसर की सैलरी शेम होती है आप कहीं पर भी आईएएस ऑफिसर बन जाए इसके बाद है कार्मिक लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के तहत कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग सिविल सेवकों की सेवाओं भुगतान प्रबंधन और प्रशिक्षण के लिए जिम्मेदार है

पीसीएस ऑफीसर के लिए तो पीसीएस ऑफीसर की जो सैलरी और पे स्केल है यह स्टेट गवर्नमेंट प्रोवाइड कराती है इन्हें राज्य सरकार के जरिए सैलरी और पेंशन मिलता है तो एक पीसीएस ऑफीसर की सैलेरी स्टेट पर डिपेंड करती है कि वह किस स्टेट का पीसीएस अफसर बना है क्योंकि हर एक इस सेट में पीसीएस ऑफीसर की सैलेरी अलग-अलग होती है कार्मिक सामान्य प्रशासन विभाग राज्य का केंद्रीय कार्मिक एजेंसी है जो सिविल सेवकों की भुगतान प्रबंधन और प्रशिक्षण की देखभाल करता है

 

आईएएस पीसीएस की ट्रांसफर डिस्मिस और सस्पेंड होने के बारे में

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

आईएएस पीसीएस की ट्रांसफर डिस्मिस और सस्पेंड होने के बारे में जब कभी ऐसी सिचुएशन आती है कि एक आईएएस अफसर को सस्पेंड करना पड़ेगा ट्रांसफर करना पड़े डिस्मिस करना पड़े तो यह काम कौन करता है तो पोस्ट से हटाने का पूरा अधिकार केंद्र सरकार यानी कि सेंट्रल गवर्नमेंट के पास होता है खासकर राष्ट्रपति के पास होता है

और जो स्टेट गवर्मेंट होती है वह एक आईएएस ऑफिसर को ट्रांसफर या फिर सस्पेंड कर सकती है ट्रांसफर या सस्पेंड करने का पूरा अधिकार होता है स्टेट गवर्नमेंट के पास लेकिन पद से हटाने का जो अधिकार है वह सिर्फ और सिर्फ केंद्र सरकार के पास ही होता है

इसके बाद अगर हम बात करें पी एस ऑफिसर की अगर पी एस ऑफिसर को किसी सिचुएशन में हटाना पड़े तो इसे हटाने का पूरा अधिकार स्टेट गवर्नमेंट के पास होता है हटाने के साथ ट्रांसफर करना पड़े या ससपेंड करना पड़े तो पूरा अधिकार स्टेट गवर्नमेंट के पास होता है

 

आईएएस ऑफिसर और पीसीएस ऑफिसर के प्रमोशन

 

आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें
आईएएस और पीसीएस में अंतर – जरुरी बातें

 

आईएएस ऑफिसर और पीसीएस ऑफिसर के प्रमोशन में कितना टाइम लगता है?

आईएएस ऑफिसर

एक आईएएस ऑफिसर के प्रमोशन के बारे में जब आईएएस अफसर को प्रमोशन मिलता है तो वह डीएम बन जाते हैं यानी के डिस्टिक मजिस्ट्रेट बन जाते हैं लेकिन जो यह टाइम पांच से सात साल तक का लग जाता है इसके बाद ही आपको प्रमोशन मिलता है और आप डीएम बन जाते हैं

पीसीएस

आईएएस अफसर के मुकाबले जो पीसीएस के प्रमोशन होते है उसका प्रोसेस बहुत स्लो होता है एक पीसीएस अफसर को जब प्रमोशन मिलता है तो वह आईएएस बन जाता है लेकिन प्रमोशन मिलने में जो टाइमिंग होती है वह 15 से 17 साल तक की लग जाती है 15 से 17 साल के बाद आपको प्रमोशन मिलता है और आप फिर आईएस बनते हैं इसमें भी 15 से 17 साल के बाद एक एग्जाम होता है जिसे इंटरनल एग्जाम कहते हैं वह एग्जाम आपको देना होता है उसके बाद आप आईएएस बन जाते हैं

 

आईएएस और पीसीएस के पोस्ट के बारे में कुछ अन्य बाते 

 

आईएएस और पीसीएस के पोस्ट के बारे में तो आईएएस, पीसीएस के मुकाबले ऊंचा पद है और आईएएस की सैलरी भी पीसीएस से ज्यादा होती है और आईएएस सैलरी होती है वह फिक्स होती है पूरे इंडिया में जबकि पीसीएस सैलरी अलग-अलग होती है और जब आप आईएएस का एग्जाम देते हैं तो आप ऑल इंडिया में आपको कहीं भी आईएस नियुक्त किया जा सकता है लेकिन अगर आप पीसीएस का एग्जाम देते हैं तो आप उसी स्टेट के पीसीएस बनते हैं जिसमे आपने पीसीएस का एग्जाम दिया हो

 

Previous Post:- इंटर्नशिप क्या होता है?- जरूरी बातें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular